it's second phase of coin

ham bhi hai josh me

14 Posts

65 comments

rahul kumar (Bijupara,Ranchi)


Reader Blogs are not moderated, Jagran is not responsible for the views, opinions and content posted by the readers.

Sort by:

एक और गप्पू …….

Posted On: 7 Jul, 2013  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

जार्ज बुश – really funny

Posted On: 21 Jun, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

में

0 Comment

बेटे नालायक होते हैं………..?

Posted On: 13 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 2.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

4 Comments

पापा…. बाहर कोई आपके बारे में पूछ रहा है….

Posted On: 12 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

0 Comment

आ गए ना अपनी औकात पर……..

Posted On: 11 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.25 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

9 Comments

मुल्ला नसीरुद्दीन के किस्से – २

Posted On: 11 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (4 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

2 Comments

मुल्ला नसीरुद्दीन के किस्से – १

Posted On: 10 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (7 votes, average: 4.43 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

10 Comments

बंदर की होशियारी

Posted On: 10 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (5 votes, average: 4.80 out of 5)
Loading ... Loading ...

में

8 Comments

एक कम्मेंट कि कीमत तुम क्या जानो विजिटर्स बाबु

Posted On: 9 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 3.50 out of 5)
Loading ... Loading ...

Others में

12 Comments

सरकार और जनता

Posted On: 9 Feb, 2011  
1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

Others में

4 Comments

Page 1 of 212»

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

के द्वारा:

के द्वारा: anil9gupta anil9gupta

राहुल जी....... आपके पापा.... बाहर कोई आपके बारे में पूछ रहा है... मे कमेंट क्लोज़ होने के कारण वहाँ का कमेंट भी यहीं दे रहा हूँ...... बहुत बढ़िया लेख है ये आपका........... वास्तव मे ये सारे संस्कार बच्चे को सीखने से कोई फर्क नहीं पड़ता ........ जरूरत है तो उसके विवेक को जगाने की...... ताकि वो खुद हर समस्या का समाधान निकाले ...... क्योकि रटे रटाए उत्तर जीवन मे कभी भी समय पर काम नहीं आते.... एक ही चीज़ की अलग अलग जगह पर अलग अलग अर्थ हो जाते हैं...... कभी अहिंसा ही धर्म बन जाता है ओर कभी युद्ध ही धर्मयुद्ध का नाम ले लेता है......  ओर जहां तक आपके ब्लोग पर विजिट करने की बात है तो मैं लगभग सभी ब्लॉग पर जाता हूँ...... ओर अक्सर प्रतिकृया भी देता हूँ...... पर अक्सर समयाभाव के कारण ओर बार बार इनवैलेड़ कोड आने के कारण बिना कमेंट के भी आ जाता हूँ....

के द्वारा: Piyush Pant, Haldwani Piyush Pant, Haldwani

के द्वारा: Piyush Pant, Haldwani Piyush Pant, Haldwani

के द्वारा: Piyush Pant, Haldwani Piyush Pant, Haldwani

के द्वारा: rahul kumar (Bijupara,Ranchi) rahul kumar (Bijupara,Ranchi)

के द्वारा: deepak pandey deepak pandey

कमेन्ट के लिये शुक्रिया पांडेजी......... लेकिन बात जहाँ तक चर्चा में आने कि है, तो मैं इतना ही कहूँगा कि अगर मुझे डायरेक्टर और एक्टर (हीरो) दोनों में से किसी एक का जीवन जीने को कहा जाये....तो मैं डायरेक्टर का जीवन जीने कि कोशिश करूँगा.              हाँ......ये सच है कि एक्टर काफी ज्यादा फेमस होते हैं, और डायरेक्टर हमेशा परदे के पीछे ही रहते हैं.........लेकिन..... आप ही बताइए एक खूबसूरत मूर्ति और उसे बनाने वाले एक बदसूरत मूर्तिकार – दोनों में कौन ज्यादा श्रेष्ठ है..........वाह - वाही बटोरने वाला मूर्ति या फिर परदे के पीछे रहने वाला मूर्तिकार तो पांडेजी मै सिर्फ इतना कहना चाहता हूँ कि कमेन्ट पाने से मेरा मतलब नीडलेस-पब्लिसिटी नहीं है..........

के द्वारा: rahul kumar (Bijupara,Ranchi) rahul kumar (Bijupara,Ranchi)

के द्वारा: deepak pandey deepak pandey




latest from jagran